Header Ads

डायरी लिखने का ज़माना


डियर रीडर्स , आपको याद है पहले लोग अपनी आपबीती की डायरी लिखा करते थे। उसमे अपनी यादगार बातों को सहेजा करते थे। लेकिन आज बहुत ही कम ऐसा होता है। आज तकनीक ने बड़ी तरक्की कर ली है। आज कल डायरी के बजाय सभी काम कंप्यूटर और लेपटोप टेबलेट पर होने लग गया है। लेकिन आज भी बहुत सारे लोग ऐसे होंगे जिन्हें अपनी डायरी लिखने का शौक जरुर होगा। वो अपने इस शौक को तकनीक का फायदा उठाकर भी पूरा कर सकते हैं। एक ई डायरी के जरिये ,उसे आप अपने कंप्यूटर पर ही लिख सकते हैं। तो देर किस बात की ,आज ही अपने लिए ये ई डायरी को डाऊनलोड कर लीजिये ,और अपने कंप्यूटर पर भी डायरी लिखने का मजा लीजिये। 



                                                        ''आमिर अली दुबई,,,,


Earn upto Rs. 1,000 pm checking Emails. Join now!

4 comments:

  1. लोड कर लिया,लाभप्रद डायरी है,पर हिंदी में क्या लिख सकते हैं इसमें.

    ReplyDelete
  2. दिल के जज़्बात सहेजने का एक और जरिया..... बढ़िया है!

    ReplyDelete
  3. बहुत बढ़िया भाई अच्छी जानकारी लाये हो...

    ReplyDelete

आपको आज की पोस्ट कैसी लगी ? अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई तो ही कमेंट्स करें ,वर्ना कोई जरुरी नही। वर्ना पढ़कर चले जाएँ ,मेरे लिए आपका दिलचस्पी से पढना कमेंट्स से बढ़कर सम्मान है। अगर आपको मास्टर्स टैक टिप्स की कोशिशें पसंद आयीं ,तो आप भी इसे आज ही ज्वाइन कर लें.कमेंट्स पाने के लिए कोई भी सज्जन यहाँ कमेंट्स ना करें। और ना ही कोई निमन्त्रण भेजें।

Powered by Blogger.