Header Ads

Masters Tach सफ़र अभी बाकि है दोस्त


डियर रीडर्स , आप में से बहुत से लोग मुझे इस ब्लॉग ''मास्टर्स टैक '' के ब्लोगर के रूप में जानते हैं। मास्टर्स टैक ब्लॉग से मेरी पहचान जरुर बनी है ,लेकिन मास्टर्स टैक से पहले भी मै लिखता था। आज आपको मै अपने लेखन की सैर करवाता हूँ।

लिखने का शौक तो इंटरनेट जगत में आने से पहले से ही था। इंटरनेट जगत में आने के बाद मै ज्यादातर दूसरे ब्लोग्स और वेबसाइट को ही पढता था। इसी दौरान मुझे ब्लोगिंग के बारे में जानकारियां मिलीं। तब मेरा भी एक ब्लॉग बनाने का इरादा हुआ। क्यूँ की शुरू में मै ज्यादातर नज्म ,ग़ज़लें ,रचनाएँ ,वगैरा लिखता था ,और मोहब्बत के विषय पर आर्टिकल लिखने का भी बड़ा शौक था ,इसलिए सबसे पहली ब्लॉग मैंने ''मोहब्बत नामा '' के नाम से शुरू की। जो आज भी सक्रिय है। उसमे मैंने विविध विषयों पर लिखा। नज्मो ,ग़ज़ल के साथ साथ चुटकुले ,कहानियाँ ,मोहब्बत और दोस्ती वगैरा जैसे विषय पर कई आर्टिकल्स लिखे। आपमें से जो मेरे पुराने पाठक हैं ,उन्होंने सभी विषय पर मेरे कलम को पढ़ा भी है। और नए लोग ,और ज्यादातर मुझे मास्टर्स टैक ब्लॉग के हवाले से ही जानते हैं। हालाँकि मास्टर्स टैक मेरा दूसरा ब्लॉग है। 
मोहब्बत नामा एक बड़ा ही दिलचस्प ब्लॉग है। जिसमे मोहब्बत और नज्मो ग़ज़ल के शौकिनो के लिए काफी कुछ है। 

मोहब्बत नामा के बाद मेरा रुझान तकनीक की तरफ हुआ। उसके बाद मास्टर्स टैक ब्लॉग को शुरू किया। और देखते ही देखते ये मोहब्बत नामा से काफी आगे चला गया। तब मुझे लोगों की दिलचस्पी के बारे में आइडिया हुआ ,की लोग नज्मो ग़ज़ल से ज्यादा नई नई जानकारियां पसंद करते हैं। खुद मेरी दिलचस्पी भी ऐसी ही थी। अपने फ्री समय में ज्यादा से ज्यादा जानकारियां प्राप्त करना पसंद था। इसी के चलते मैंने सारा ध्यान मास्टर्स टैक ब्लॉग पर ही लगा दिया। और इसे पोस्ट्स के जरिये अपडेट्स रखने लगा। सबसे ज्यादा मेहनत मुझे इसे सर्चिंग इंजन्स तक पहुँचाने में ही करनी पड़ी। इस ब्लॉग को मैंने दस हजार से भी ज्यादा सर्च इंजन्स पर सबमिट किया। इसे ज्यादा से ज्यादा सर्च इंजन्स तक पहुँचाने में जो जो तरीके सीखता था ,उन पर अमल करके इसे दूर दूर तक पहुँचाने में लगाता। अब तो इसके ब्लॉग अपडेट कई ब्लोग्स पर लगे हुए हैं। साथ ही सर्च इंजन्स पर बेहतर रिजल्ट मिल रहे हैं। और साथ ही सोशल मिडिया पर भी ये सक्रिय है। इसके आगे मेरा सपना इसे किसी प्रोफेशनल की मदद से और भी ज्यादा बेहतर बनाने का है। उसके बाद इसे वेबसाइट में बदलने का है। ब्लॉग जगत में मेरा किसी से कोई कम्पीटीशन तो नही है ,अलबत्ता इस ब्लॉग को एक अलग पहचान दिलाने का सपना जरुर है। 

अभी भी मै इस ब्लॉग को एक कामियाब ब्लॉग नही कह सकता ,इसके लिए मुझे अभी बहुत सारी मेहनत करनी पड़ेगी। इस ब्लॉग से तकनिकी जानकारियों के साथ साथ बेरोजगारों को रोजगार दिलाने का काम भी करता रहूँगा। इसके साथ ही बहुत सारी सोशल मिडिया की वेबसाइट हैं जहाँ इस ब्लॉग को पहुँचाना बाकि है। और इसकी पेज रेंक बढ़ाने के लिए भी काफी काम बाकि है। तब तक पोस्ट्स का सिलसिला तो चलता रहेगा ,साथ ही इसे बेहतर बनाने और आगे ले जाने पर भी काम जारी रहेगा। 

इसके लिए मुझे कुछ ब्लॉग टेक्नीशियन की मदद की जरुरत पड़ रही है ,जो Seo पर काम कर सकें ,लेकिन फ़िलहाल मदद नही मिल सकी है। अगर आप में से कोई इसकी जानकारी रखता है तो संपर्क कर सकता है। 

आप सभी का प्यार और आशीर्वाद रहा तो मास्टर्स टैक का सफ़र इसी तरह आगे बढ़ता रहेगा। इसके लिए मुझे आपकी मदद की जरुरत है ,आप में से जो ब्लोगर्स हैं ,और मास्टर्स टैक ब्लॉग को पसंद करते हैं ,वो इसका अपडेट अपने ब्लॉग पर जरुर लगायें। और फेसबुक यूजर्स इसे फेसबुक पर ज्यादा से ज्यादा लोगों में शेयर करें। और आम पाठक कम से कम इसे ज्वाइन जरुर करें। ईमेल के जरिये पोस्ट्स पढने वाले पाठक ब्लॉग पर भी आकर भी इसे विजिट करें। इसी तरह आप मास्टर्स टैक ब्लॉग का सहयोग कर सकते हैं।

                                                      ''आमिर अली दुबई ,,

1 comment:

आपको आज की पोस्ट कैसी लगी ? अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई तो ही कमेंट्स करें ,वर्ना कोई जरुरी नही। वर्ना पढ़कर चले जाएँ ,मेरे लिए आपका दिलचस्पी से पढना कमेंट्स से बढ़कर सम्मान है। अगर आपको मास्टर्स टैक टिप्स की कोशिशें पसंद आयीं ,तो आप भी इसे आज ही ज्वाइन कर लें.कमेंट्स पाने के लिए कोई भी सज्जन यहाँ कमेंट्स ना करें। और ना ही कोई निमन्त्रण भेजें।

Powered by Blogger.